BAMS के छात्र की आत्महत्या मामले में ट्विस्ट, प्रेम प्रसंग, ब्रेकअप और एक छात्र से हुए विवाद की जानकारी ने बढ़ाया जांच का दायरा

डॉ. शिवशक्तिलाल शर्मा आयुर्वेद महाविद्यालय के छात्र की आत्महत्या की जांच कर रहे दल की जानकारी में आया नया तथ्य। इसलिए बढ़ गया पुलिस व प्रशासन की जांच का दायरा। पुलिस और प्रशासन की पांच सदस्यीय टीम हर एंगल से कर ही मामले की जांच।

BAMS के छात्र की आत्महत्या मामले में ट्विस्ट, प्रेम प्रसंग, ब्रेकअप और एक छात्र से हुए विवाद की जानकारी ने बढ़ाया जांच का दायरा
डॉ. शिवशक्ति लाल शर्मा आयुर्वेदिक मेडिकल के छात्र की आत्महत्या का मामला।

एसीएन टाइम्स @ रतलाम । पं. डॉ. शिवशक्तिलाल शर्मा आयुर्वेदिक महाविद्यालय के छात्र संदीप परमार द्वारा की गई आत्महत्या का मामला अब भी अनसुलझी पहेली बना हुआ है। मामले में परिजन व एबीवीपी ने जहां आत्महत्या की वजह फीस के लिए कथित प्रताड़ना बताई, वहीं अब मामले में प्रेम त्रिकोण की बात सामने आ रही है। इससे संदीप और उससे जुड़ी रही एक छात्रा की मोबाइल कॉल डिटेल्स, उसका फेसबुक स्टेटस सहित अन्य तथ्य भी पुलिस और प्रशासन की जांच के दायरे में शामिल हो गए हैं।

गत 2 जुलाई को आयुर्वेदिक महाविद्यालय के बीएचएमएस के फाइनल ईयर के छात्र संदीप पिता अशोक परमार (24) निवासी शुजालपुर का शव उसके किराये के कमरे में छत के पंखे के हुक से बंधे फांसी के फंदे पर लटका मिला था। मौके से पुलिस को एक सुसाइड नोट और संदीप की कॉपी में से प्रदेश के एक मंत्री के नाम लिखा गया एक पत्र भी मिला था। इन्हें प्रथमदृष्टया बड़ा आधार मानकर पुलिस ने जांच शुरू की थी लेकिन एबीवीपी द्वारा धरना-प्रदर्शन और परिजन व महाविद्यालय के छात्राओं द्वारा कॉलेज प्रबंधन द्वारा सवाल उठाए जाने के बाद कलेक्टर ने मामले की जांच के लिए 5 सदस्यीय टीम गठित कर दी थी। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव और नगरीय निकाय चुनाव के चलते मामले की जांच आगे नहीं बढ़ सकी थी। सूत्र बताते हैं कि टीम ने एक बार फिर से मामले के सभी पहलुओं की बारीकी से जांच शुरू कर दी है।

यह भी देखें... डॉ. पं. शिवशक्तिलाल शर्मा आयुर्वेद मेडिकल कॉलेज के स्टूडेंट ने लगाई फांसी, परिजन ने यह बताई आत्महत्या करने की वजह, छात्रों ने किया चक्काजाम

प्रेम प्रसंग की जानकारी आने के बाद बढ़ा जांच का दायरा

सूत्रों की मानें तो पहले जहां आत्महत्या की वजह सिर्फ फीस और आर्थिक मामले को माना जा रहा था, वहीं अब इसकी एक बड़ी वजह लंबे प्रेम प्रसंग के बाद ब्रेकअप की बात बताई जा रही है। सूत्रों की मानें तो मृतक छात्र संदीप के महाविद्यालय की ही एक छात्रा से करीब पांच साल तक चले अफेयर की जानकारी जांच दल के संज्ञान में आई है। छात्रा का नाम एक पुरानी फिल्म अभिनेत्री से मिलता-जुलता बताया जाता है। चर्चा है कि उक्त छात्रा के फेसबुक स्टेटस पर लंबे समय तक रिलेशनशिप सहित अन्य जानकारी जानकारी नजर आ रही थी जो संदीप की आत्महत्या करने वाले दिन ही हटा ली गई।

वह कौन था जिससे हुआ था संदीप का झगड़ा

जांच दल के संज्ञान में यह बात भी आई है कि संदीप की आत्महत्या वाले दिन से करीब 11 दिन पहले उसका महाविद्यालय के ही एक छात्र से उसका विवाद भी हुआ था। नौबत मारपीट तक पहुंच गई थी। इस विवाद की वजह उक्त छात्र का संदीप से जुड़ी रही छात्रा के प्रति झुकाव रहा। सूत्रों के मुताबिक उक्त छात्र के दखल के कारण ही संदीप और छात्रा का ब्रेकअप हुआ था। ब्रेकअप वाली बात का उल्लेख पुलिस को घटनास्थल पर मिले सुसाइड नोट में भी है। इसे लेकर किसी को भी परेशान नहीं करने की बात भी सुसाइड नोट में है। ऐसे में जांच दल द्वारा उक्त संदिग्ध छात्र की जानकारी भी जुटाई जा रही है।

यह भी देखें... रतलाम 5 सदस्यीय कमेटी करेगी पं. डॉ. शिवशक्तिलाल शर्मा आयुर्वेदिक चिकित्सा महाविद्यालय के छात्र की आत्महत्या को लेकर लगे आरोपों की जांच

विवाद के बाद से गायब छात्र-छात्रा भी जांच के दायरे में

सूत्रों के अनुसार संदीप ने अपने सुसाइड नोट में जिस छात्रा का उल्लेख अपनी मांता को संबोधित करते हुए किया है, उसका महाविद्यालय आना ही बंद हो गया। इसी तरह जिस छात्र से संदीप का विवाद हुआ था वह भी पिछले कई दिनों से नहीं आ रहा था। जांच दल को उक्त दोनों की भी तलाश होने की बात कही जा रही है। यानी जांच के बिंदुओं में उक्त दोनों की भूमिका का पता भी लगाया जा रहा है।

कॉल डिटेल और सोशल मीडिया एकाउंट भी जांच में शामिल

माना जा रहा है कि संदीप की आत्महत्या की सही वजह सभी संबंधित और संदिग्ध पक्षों की कॉल डिटेल्स, उनके सोशल मीडिया एकाउंट सहित छात्र के राजदारों को टटोलने से स्पष्ट हो सकती है। चुनाव से निपटते ही जांच दल इन्हीं सब आधारों पर आगे बढ़ेगा। इसिलए जिम्मेदार अभी कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

यह भी देखें... विद्यार्थी की आत्महत्या का मामला : कलेक्टर व एसपी जांच के लिए आयुर्वेदिक महाविद्यालय परिसर पहुंचे, स्टाफ तथा विद्यार्थियों से पूछताछ की