नीर_का_तीर

जातीय संतुलन की चिड़िया हुई काफूर, जिस OBC के लिए सुप्रीम...

 महापौर प्रहलाद पटेल द्वारा गठित की गई एमआईसी को लेकर भाजपा में जहां बड़ा धड़ा खुश है वहीं कुछ लोग नाखुश भी हैं। इस नाखुशी की बड़ी...

नीर का तीर : ‘विवादों की विधि’ के बीच ‘अव्यवस्थाओं की शपथ’,...

रतलाम की नगर सरकार ने शपथ ग्रहण कर ली। शपथ ग्रहण समारोह में अव्यवस्थाओं का बोलबाला तो रहा ही, लोगों का मान-सम्मान भी हवा हो गया।

नगर सरकार का परिणाम यानी विधानसभा चुनाव 2023 के लिए खतरे...

रतलाम में हुए नगर सरकार के चुनाव के आंकड़ों को लेकर रोज अलग-अलग विश्लेषण हो रहे हैं। वोटों के गणित के आधार पर 2023 के विधानसभा चुनाव...

मैं दीनदयालनगर हूं... : समस्याओं से मेरा गहरा नाता है,...

शहर का प्रमुख इलाका दीनदयालनगर अपने नाम के साथ ही अपनी समस्याओं के लिए भी जाना जाता है। जानिए, खुद ‘दीनदयालनगर’ के ही शब्दों में।

नीर-का-तीर : कहानी एक बरसाती मेंढक के परिपक्व चुनावी मेंढक...

इस चुनावी माहौल में कहीं प्रचार का शोर-शराबा है तो कहीं लोग नेताओं और राजनीतिक पार्टियों के पुराने वादों के पूरे नहीं होने से खिन्न...

नीर-का-तीर : कांग्रेस का टिकट तय होते ही कई भाजपाइयों ने...

रतलाम भाजपा की मौजूदा स्थिति अजीब हालात में है। एक समय भाजपा नेता विधायक चेतन्य काश्यप की तरफ खिंचे चले जा रहे थे और लेकिन नगरीय निकाय...

नीर-का-तीर : टिकट नहीं मिलने से दावेदारों में उपजे आक्रोश...

टिकट वितरण के बाद से भाजपा की मुसीबत बढ़ गई है। असंतुष्टों द्वारा जिम्मेदारों पर कार्यकर्ताओं की अनदेखी के आरोप लगाए जा रहे हैं। ऐसे...

नीर_का_तीर : आपको पीने के लिए पानी नहीं मिल रहा है तो यह...

एक ओर रतलामवासी भरी गरमी में पानी के लिए तरस रहे हैं तो दूसरी ओर नगर निगम रोज हजारों लीटर पानी व्यर्थ बहा रहा है। स्वच्छता के नाम...

Neer-ka-Teer : 'रसूख' की प्रॉपर्टी पर आई 'आंच' तो शुरू...

Neer-ka-Teer : एक 'खुली आंख वाले' ने हमारी 'रातों की नींद' छीन ली है और 'दिन का चैन' भी। हम रतलामी हैं, इतनी जल्दी हथियार नहीं डालेंगे।...

Everything possible in Ratlam : बधाई हो, अब सरकारी मेडिकल...

Everything possible in Ratlam... नीर-का-तीर में पढ़ें सरकारी अमले की कारगुजारी जिसमें अधूरे सीवरेज प्रोजेक्ट के उद्घाटन से लेकर डेंगू...

'हमारी सड़कें बहुत ‘स्वादिष्ट’ हैं...' स्वादिष्ट चीज कहीं...

'सड़कों पर गड्ढे' हैं या 'गड्ढों में सड़क' है... आप इन दिनों इसी 'खोज' में व्यस्त होंगे। हम भी तो अपनी तमाम प्राथमिकताओं को परे धकेल...